Disciples(@paramdisciples) 's Twitter Profileg
Disciples

@paramdisciples

Born to pray Sri Radha Krishna,to serve Them in infinitive life,to motivate all entities to surrender Sri Radha Krishna across the Universes हरे कृष्ण हरे राम।

ID:2834789771

calendar_today17-10-2014 06:43:26

30,0K Tweets

31,4K Followers

15,5K Following

Follow People
YD 🕉(@Realhumamity) 's Twitter Profile Photo

Disciples Bhagavad Gita: Chapter 10, Verse 8

अहं सर्वस्य प्रभवो मत्त: सर्वं प्रवर्तते |
इति मत्वा भजन्ते मां बुधा भावसमन्विता: || 8||

BG 10.8: I am the origin of all creation. Everything proceeds from Me. The wise who know this perfectly worship Me with great faith and devotion.

@paramdisciples Bhagavad Gita: Chapter 10, Verse 8 अहं सर्वस्य प्रभवो मत्त: सर्वं प्रवर्तते | इति मत्वा भजन्ते मां बुधा भावसमन्विता: || 8|| BG 10.8: I am the origin of all creation. Everything proceeds from Me. The wise who know this perfectly worship Me with great faith and devotion.
account_circle
YD 🕉(@Realhumamity) 's Twitter Profile Photo

Disciples Bhagavad Gita: Chapter 10, Verse 9

मच्चित्ता मद्गतप्राणा बोधयन्त: परस्परम् |
कथयन्तश्च मां नित्यं तुष्यन्ति च रमन्ति च || 9||

Disciples

@paramdisciples Bhagavad Gita: Chapter 10, Verse 9 मच्चित्ता मद्गतप्राणा बोधयन्त: परस्परम् | कथयन्तश्च मां नित्यं तुष्यन्ति च रमन्ति च || 9|| @paramdisciples
account_circle
YD 🕉(@Realhumamity) 's Twitter Profile Photo

Disciples BG 10.9: With their minds fixed on Me and their lives surrendered to Me, My devotees remain ever content in Me. They derive great satisfaction and bliss in enlightening one another about Me and in conversing about My glories.

@paramdisciples BG 10.9: With their minds fixed on Me and their lives surrendered to Me, My devotees remain ever content in Me. They derive great satisfaction and bliss in enlightening one another about Me and in conversing about My glories.
account_circle
DRx Parveen saini(@iParveenSaini) 's Twitter Profile Photo

जय श्री राधे राधे

जिसे हम दुनिया समझते हैं वह बस एक विचार मात्र है

account_circle
hari bhakti simran smaran bhajan -dr rajendra(@balmurligokul) 's Twitter Profile Photo

हरी चरणों का स्मरण ही संपूर्ण श्रद्धा है
हरी चरणों मैं आश्रय मिल जाये यही चाहत है
हरी स्मरण, सिमरन और भजन करने को मिल जाये
यही जीवन का उदेश्य होना चाहिए
बाकि सब माया है
हमें चाइये सिर्फ
ईश्वर की छाया
हरी बोल

हरी चरणों का स्मरण ही संपूर्ण श्रद्धा है हरी चरणों मैं आश्रय मिल जाये यही चाहत है हरी स्मरण, सिमरन और भजन करने को मिल जाये यही जीवन का उदेश्य होना चाहिए बाकि सब माया है हमें चाइये सिर्फ ईश्वर की छाया हरी बोल
account_circle
Sri Pundrik Goswami(@SriPundrik) 's Twitter Profile Photo

के उपलक्ष्य में आओ संकल्पित होकर श्रीगीताजी का पाठ करें, 'आसक्ति से विमुक्ति कर परम् मोक्ष का द्वार हैं । जीवन के हर मूल्यों का सार है।श्रीभगवद्गीता'


#श्रीगीताजयंतीसप्ताह के उपलक्ष्य में आओ संकल्पित होकर श्रीगीताजी का पाठ करें, #श्रीगीताजी 'आसक्ति से विमुक्ति कर परम् मोक्ष का द्वार हैं #श्रीभगवद्गीता। जीवन के हर मूल्यों का सार है।श्रीभगवद्गीता' #geetajyanti #pundrikjisutra #geeta_jyanti
account_circle
Sri Pundrik Goswami(@SriPundrik) 's Twitter Profile Photo

भाव कुभाव अलख आलस्य से भी लिया गया नाम कल्याण कर देता है। किंतु वैष्णव का क्या धर्म है?

account_circle
hari bhakti simran smaran bhajan -dr rajendra(@balmurligokul) 's Twitter Profile Photo

देवताओं ने कहा : हम उस दिव्य रूप भगवान् को नमस्कार करते हैं जिन्होंने इस दृश्य जगत की सृष्टि अपनी बहिरंगा शक्ति के रूप में की है, जो उनमें उसी प्रकार स्थित है, जिस प्रकार वायु तथा बादल आकाश में रहते हैं और जो अब धर्म के घर में नर-नारायण ऋषि के रूप में प्रकट हुए हैं।

देवताओं ने कहा : हम उस दिव्य रूप भगवान् को नमस्कार करते हैं जिन्होंने इस दृश्य जगत की सृष्टि अपनी बहिरंगा शक्ति के रूप में की है, जो उनमें उसी प्रकार स्थित है, जिस प्रकार वायु तथा बादल आकाश में रहते हैं और जो अब धर्म के घर में नर-नारायण ऋषि के रूप में प्रकट हुए हैं।
account_circle